स्मरण-शक्ति (MEMORY POWER)

2,999.0010,999.00

कमजोर याददाश्त

क्या आप भी मुख्य दरवाजे को बंद करने के बावजूद बार बार जाँच करते हैं कि आपने मुख्य दरवाजे को लॉक किया या नहीं ? कभी-कभी सामान को भूलने के लिए यह सामान्य है, लेकिन यदि यह अधिक बार होता है तो यह निराशाजनक हो सकता है। मेमोरी एक महान उपहार है, अच्छी याददाश्त अक्सर बुद्धि के साथ जुड़ी होती है। भूलने का मुख्य कारण एकाग्रता की कमी होता है। अधिकतर समस्या रिकाल करने में होती है क्योंकि हमारे दिमाग को रिकाल प्रोसेस के लिए जिन पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है उनकी हमारे शरीर में कमी हो जाती है।

Clear
SKU: N/A Category:

Description

कमजोर याददाश्त के लक्षण-

एक खराब याददाश्त आपके जीवन को एक से अधिक तरीकों से प्रभावित कर सकती है। कमजोर याददाश्त या भूलने की बीमारी (स्मृति हानि) से पीड़ित बच्चों को स्कूल में सीखने में परेशानी होती है। वे अक्सर धीमी शिक्षार्थियों के रूप में उपेक्षित होते हैं। उनके पास महान कौशल हो सकते हैं लेकिन तथ्यों को पुनः प्राप्त करने में असमर्थता उनकी कमियां बन सकती है। बहुत से लोग अपने महत्वपूर्ण दस्तावेजों और पैसे खो देते हैं लेकिन वास्तव में खराब स्मृति से पीड़ित वे लापरवाह माने जाते हैं। यह आपके रिश्तों और नौकरी को भी प्रभावित कर सकता है, जिससे तनाव और अवसाद हो सकता है।

कमजोर याददाश्त के कारण –

स्वस्थ भोजन की कमी है याददाश्त कमजोर होने का कारण – Foods that Affect Memory

अत्यधिक शर्करा और भारी भोजन खाने से मस्तिष्क स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं होता है। अतिरिक्त मसालेदार और तले हुए भोजन आपके स्वास्थ्य को हानि पहुँचाते हैं। शराब का अत्यधिक सेवन याददाश्त कम होने में महान भूमिका निभाता है। यह भूलने की बीमारी के साथ भी जुड़ा हुआ है। मांस और प्रोसेस्ड खाद्य पदार्थ खाना मस्तिष्क के कामकाज के लिए हानिकारक होता है। आपके दैनिक भोजन में विटामिन बी 1 और बी 12 की कमी आपके मस्तिष्क स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकती है।

 

उम्र की वजह से याददाश्त कमजोर होना – Age Related Memory Loss in Hindi

उम्र की वजह से याददाश्त कम होना एक जाना पहचाना कारण है। लेकिन ऐसा जरूरी नहीं है कि उम्र के साथ आपकी मेमोरी कमजोर हो जाएं। मस्तिष्क कोशिकाओं की मरम्मत में हमारा शरीर कम प्रभावी होता है। मस्तिष्क कोशिकाएं याद करने के लिए जिम्मेदार होती है, लेकिन जैसे जैसे उम्र बढ़ती है ये कमजोर हो जाती है।

दवाईयों का अधिक सेवन है मस्तिष्क की कमजोरी का कारण – Diseases Causes Poor Memory in Hindi

अल्जाइमर रोग उन बीमारियों में से एक है जो आपकी याददाश्त को प्रभावित कर सकती हैं। यह मस्तिष्क कोशिकाओं के नुकसान के साथ जुड़ा हुआ है। कुछ अन्य विकारों में हार्मोन संबंधी विकार शामिल हो सकते हैं, विशेष रूप से हार्मोन थायरॉयड। इसके अलावा बहुत अधिक ओवर-द-काउंटर वाली दवाईयों के सेवन का भी स्मृति पर प्रभाव पड़ता है।

दिमाग की कमजोरी की वजह है ड्रग्स का अत्यधिक उपयोग – Drugs that Cause Poor Memory

ड्रग्स का अत्यधिक उपयोग आपकी कमजोर याददाश्त के पीछे का कारण हो सकता है। ड्रग्स का मस्तिष्क के कुछ हिस्सों पर सीधा प्रभाव पड़ सकता है। तंबाकू, जब चबाया या स्मोक किया जाता है, तो यह भी आपके मस्तिष्क को प्रभावित करता है। यह मस्तिष्क कोशिकाओं को कम ऑक्सीजन पहुंचाता है जिसका सीधा असर आपकी याददाश्त पर पड़ता है।

 

नींद की कमी हो सकती है भूलने का कारण – Sleep Deprivation Effects on Memory

यह प्रयोगों के माध्यम से देखा गया है कि नींद की कमी मस्तिष्क की याद करने की क्षमता को प्रभावित करती है। जब हम सोते हैं, तो हमारा मस्तिष्क उन घटनाओं को बचाता है, जो पूरे दिन में घटित होती है। यदि कोई व्यक्ति पर्याप्त नींद नहीं लेता है तो इसका असर आपकी याददाश्त पर पड़ सकता है।

तनाव है मेमोरी लॉस प्रॉब्लम का कारण – Bad Memory Due to Stress

मेमोरी लॉस में तनाव और अवसाद भी एक प्रमुख भूमिका निभा सकते हैं। यह भी संभावना है कि तनाव हमारे मस्तिष्क में किसी विशेष मेमोरी के स्टोरेज की प्रक्रिया में दखल करता है।

 

सिर पर गहरी चोट भी है कम याददाश्त की वजह –

सिर पर गहरी चोट की वजह से भी अचानक स्मृति हानि हो सकती है। यह अक्सर देखा जाता है एक दर्दनाक चोट या दुर्घटना के ठीक बाद कोई व्यक्ति पिछली घटनाओं को याद करने में सक्षम नहीं होता है। मेमोरी कुछ थेरपी के बाद वापस आ सकती है लेकिन कुछ गंभीर मामलों में मेमोरी स्थायी रूप से जा सकती है।

 

कमजोर याददाश्त से बचाव – Prevention of Poor memory

जब हम अपने दोस्तों के साथ स्कूल में बिताए सुन्दर पलों को याद करते हैं या फिर अपने परिवार के साथ छुट्टी पर घूमने जाने के पलों को याद करते हैं तो कितना अच्छा लगता है। कभी सोचा हे अगर आपको वो सब पल याद नहीं रहे तो क्या होगा? हम कमजोर याददाश्त के कारण उन सारे अच्छे पलों को भूल जाएँ तो क्या होगा? आप अपने जीवन में कुछ बदलाव कर के कमजोर याददाश्त की इस समस्या से निजात पा सकते हैं। चलिए आज हम जीवन में कुछ ऐसे बदलावों के बारे में बात करते हैं जो आपकी याददाश्त बढ़ा सकते हैं।

दिमाग तेज करने के लिए क्या खाना चाहिए – Foods that improve memory powerआप जो कुछ भी खाते हैं, उसका आपके मस्तिष्क स्वास्थ्य पर बहुत प्रभाव पड़ता है। अपने आहार में हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन करें। विटामिन बी 1 और बी 12 से समृद्ध खाद्य पदार्थों को भी अपने आहार में शामिल करें। अपने भोजन में घी का नियमित उपयोग करें। घी का सेवन आपकी स्मरणशक्ति बढ़ाने के लिए अच्छा होता है। अत्यधिक शराब पीने से बचे क्योंकि अत्यधिक शराब आपके मस्तिष्क के स्वास्थ्य को प्रभावित करती है। अच्छे स्वास्थ्य के लिए पके और आसानी से पचने योग्य भोजन खाएं। आप प्रतिदिन एक गिलास गर्म दूध  पिएं। बादाम खाएं क्योंकि बादाम दिमाग को तेज करने के लिए बहुत अच्छा होता है । अपने आहार में अखरोट और ब्लूबेरी का उपयोग करें, साथ ही अलसी का तेल, एवोकाडो, कॉड लिवर मछली तेल का सेवन करें ये आपके स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हैं।

तेज दिमाग के लिए योग – Increase memory power with yoga

योग आपके अंदर अच्छे विचारों को बढ़ाने में मदद करता है। यह मानसिक स्वास्थ्य को अच्छा बनाए रखने में भी मदद करता है। सूर्य नमस्कार शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए अच्छा है। ध्यान तनाव को कम करता है और एकाग्रता शक्ति को बढ़ाता है। ध्यान आपके मन को और अधिक अच्छा बनाता है। व्यायाम शरीर और मस्तिष्क में उचित रक्त परिसंचरण करने में मदद करता है।

स्मरण शक्ति बढ़ायें पर्याप्त नींद लेकर – Sleep boosts memory in hindi

जब आप पर्याप्त नींद लेकर सुबह उठते हैं तो अपने आप को ताज़ा महसूस करते हैं। आपके शरीर को उचित तरीके से कार्य करने के लिए पर्याप्त नींद बहुत आवश्यक है। उचित नींद आपके पूरे दिन की घटनाओं को आपके दिमाग में सहज कर रखने में भी मदद करती है। यदि आप पिछली रात अच्छी तरह सोए हैं तो आपको अगली सुबह अधिक चौकस रहने में मदद मिलेगी।

याददाश्त बढ़ाने के लिए ना करें ड्रग्स का सेवन – Avoid drugs for good memory

ड्रग्स का सेवन सांसारिक समस्याओं से भागने का आसान तरीका होगा लेकिन लंबे समय में इसका बहुत नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। ड्रग्स का सेवन आपकी याददाश्त को कमज़ोर बना सकता है और मस्तिष्क पर गहरा प्रभाव डालता है। अपनी याददाश्त को सुधारने के लिए ड्रग्स का उपयोग बिलकुल ही ना करें। धूम्रपान भी बिलकुल नही करना चाहिए।

बुद्धि बढ़ाने के लिए तनाव से रहें दूर –

तनाव और अवसाद आपकी बातों को याद रखने की क्षमता को कम कर देते हैं। तनाव और अवसाद आपके मस्तिष्क को सीधा प्रभावित करके मस्तिष्क के काम करने की क्षमता को कम करते हैं, इसके लिए आप मनोरंजन के साधन अपनाएं जो आपको खुश रख सकें। दोस्तों और परिवार के साथ समय बिताएं, वही काम करें जिससे आपको खुशी मिलती है।

याददाश्त तेज करने का उपाय है दिमागी टेस्ट – Brain exercise for memory enhancement

पहेली (crossword puzzles) सुलझाएं, गणित के जटिल प्रश्नों को सुलझाएं, अपने दिमाग को टेस्ट करने के लिए जो भी आप को अच्छा लगता है, वो करें। इससे आपके दिमाग का उपयोग होता है और आपके मस्तिष्क की योग्यता बढ़ती है।

Additional information

Treatment Days

15 DAYS, 30 DAYS, 60 DAYS

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “स्मरण-शक्ति (MEMORY POWER)”

Your email address will not be published. Required fields are marked *